Sunday, September 23, 2018

आयकरदाताओं के पेनकार्ड के डाटा हैक / चोरी व सार्वजनिक (PAN Data Hacked) करने के विरूद्ध कार्यवाही की मांग  

भारत सरकार के आयकर विभाग के अफसरों की लापरवाही या भ्रष्टाचारी मिलीभगत से सभी आयकरदाताओं के पेनकार्ड के डाटा हैक (PAN Data Hacked) व सार्वजनिक करने के विरूद्ध कार्यवाही की मांग.

 

नया भारत पार्टी के अध्यक्ष कैलाश चंद्रा (Kailash Chandra President of Naya Bharat Party) ने देश के प्रधान मंत्री (Prime Minister), वित्त मंत्री (Finance Minister) व केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) के चेयरमैन को एक ज्ञापन भेज कर भारत सरकार के आयकर विभाग  के अफसरों की लापरवाही या भ्रष्टाचारी मिलीभगत (Carelessness and Corruption of Officers of Income-tax Department) से सभी आयकरदाताओं के पेनकार्ड के डाटा हैक व सार्वजनिक (PAN Daa Hacked and Made Public) करने के विरूद्ध कार्यवाही की मांग की है.

नया भारत पार्टी के अध्यक्ष ने अपने ज्ञापन में लिखा है कि आयकर विभाग एवं भारत सरकार की किसी भी वेबसाइट पर पेनकार्ड का डाटा खुल्ले रूप से उपलब्ध नहीं है लेकिन ताज्जुब व सच्चाई यह कि पेनकार्ड का डाटा कुछ लोगो ने हैक कर लिया है और अपनी वेबसाइट से पैसा कमाने के लिए पेनकार्ड का डाटा को सार्वजनिक किया हुआ है. मजे की बात यह भी है ऐसी सुविधा स्वयं सरकारी वेबसाइट पर भी उपलब्ध नहीं है. Hacker is providing that facility which is even not available on Government Websites.

ज्ञापन में सरकारी दावे के विरूद्ध लिखा कि भारत सरकार दावा करती है कि देश के नागरिको के आधार व पेनकार्ड के डाटा सुरक्षित है लेकिन searchpan.in नामक वेबसाइट के पेज http://searchpan.in/search-pan-details-pan-no/ पर पूरे देश के आयकरदाताओ के पैन डाटा उपलब्ध है जो कि भारत सरकार के आयकर विभाग के अफसरों की लापरवाही या भ्रष्टाचारी मिलीभगत से  ही संभव हुआ है.

पार्टी अध्यक्ष द्वारा दावा किया गया कि उन्होंने स्वयं ने इस विषय की जानकारी आयकर विभाग के उच्च पदस्थ अधिकारियों को लिखित (Intimated in writing to Income-tax Department)  में दी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई जिससे भी प्रमाणित होता है कि यह सिर्फ हैकिंग का मामला न होकर मिली-भगती व भ्रष्टाचार का मामला भी है.

आयकर विभाग को भुगतान भी नहीं किया : पार्टी अध्यक्ष ने अपने ज्ञापन के साथ सबुत भी भेजे है और आरोप लगाया कि उस वेबसाइट के मालिक ने नियमानुसार भुगतान कर के आयकर विभाग (Income-tax Department) से API भी नहीं ले रखी है, जिससे आयकर विभाग को भारी चुना लगा है तथा लग रहा है. Hacker caused revenue loss to Govt. of India.

गंभीर साइबर अपराध (Serious Cyber Crime) : आरोप के अनुसार इस वेबसाइट के मालिक ने आयकर विभाग के पैनकार्ड डाटा को हैक कर रखा है, जो कि एक गंभीर साइबर अपराध है लेकिन विभाग के अफसरों को सूचना हो जाने के बाद भी इस वेबसाइट व उसके मालिक पर किसी भी तरह की कार्यवाही नहीं की गयी और न ही उसे रोका गया,  जो भ्रष्टाचार को प्रमाणित करता है.

सरकारी गोपनीयतता व पैन धारको की निजता का  हनन (Violations of Government’s Secrecy and Privacy of PAN Holders) : ज्ञापन में यह भी आरोप लगाया गया है कि इस हैकर के पास पूरे देश के अपडेटेड पैनडाटा होने से सरकारी गोपनीयतता व पैन धारको की निजता का तो हनन हुआ ही है, साथ ही किसी भी बड़े आर्थिक अपराध व फर्जीवाड़े को कभी भी अंजाम दिया जा सकता है.

Related Post

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतों के निर्धारण में जनता को लूटा जा रहा है – नया भारत पार्टी

पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतों के निर्धारण में जनता को लूटा जा रहा है – ...

पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतों के निर्धारण में जनता को लूटा जा रहा है – नया भारत पार्टी (Naya Bharat Party)   देश में पेट्रोल-डीजल ...

SiteLock