Saturday, February 25, 2017

नए वर्ष के उपलक्ष में रोटरी ‘दान की दीवार’ का शुभारम्भ. 

नए वर्ष के उपलक्ष में रोटरी ‘दान की दीवार’ का शुभारम्भ.

 नए वर्ष के उपलक्ष में आज रोटरी क्लब, सुमेरपुर ने आज रविवार 01.01.2017 को सुमेरपुर (राजस्थान) में रोटेरियन लालचन्द चंदेल की सौजन्य से तैयार की गयी ‘दान की दीवार’ का शुभारम्भ कर सुमेरपुर की जनता को सुपुर्द कर दी.

रोटरी क्लब सुमेरपुर की तरफ से सुमेरपुर-शिवगंज की जनता से आव्हान किया गया कि इस प्रोजेक्ट में एक दीवार के रूप में एक ऐसा स्थान दिया जा रहा है जहा पर कोई भी सक्षम नागरिक दूसरो / जरूरतमंदो के काम आने वाली अपनी सरप्लस सामग्री रख कर / लटका कर दान कर सकता है. समाज सेवा का यह बहुत ही अच्छा व कम लागत का गरीबो की सेवा का प्रोजेक्ट है, अत: रोटरी क्लब, सुमेरपुर  आम जनता से आहव्हान करता है कि अधिक से अधिक संख्या में अपने घर का उपयोगी सरप्लस गरीबो के लिए ‘दान की दीवार’ पर अर्पित / भेट करे.

 रोटरी क्लब के सचिव श्री पारसमल जैन ने बताया कि पुराने पली बस स्टैंड पर स्थित रोटरी क्लब की सबसे पुरानी प्याऊ की दो दीवारों को इन दान की दीवार के लिए काम में लिया गया. इसी प्याऊ के पास ही ग्रामीण बसों का बस स्टैंड है जिससे गाँव के गरीबो तक इस दीवार का लाभ पहुच सकेगा.

 इस मोके पर क्लब के पूर्व अध्यक्ष रोट. सीए के.सी. मूंदड़ा ने दान-दाताओं व लाभार्थियों / जरूरतमंदो के लिए अपने कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए –

 क्या करे (What to do)

  1. भेट की जा रही किसी भी सामग्री(Charity Articles) को दीवार पर उपलब्ध खूंटी पर ही लटकाए.
  2. यदि कोई भी छोटी-छोटी सामग्रिया(Charity Articles) खूंटी पर लटकाना संभव नहीं हो, तो उन वस्तुओ को पारदर्शी (Transparent) प्लास्टिक की थेली में लटकाए.
  3. सभी दान-दाताओं, राहगीरों व पड़ोसियों को दीवार, स्थान व भेट की गयी सामग्री(Charity Articles) के दुरुपयोग रोकने में अपना अपना योगदान देना चाहिए.
  4. जो भी सामग्री भेट के लिए रखी जाती है, वो काम में आने लायक उपयोगी वस्तु ही होनी चाहिए. वस्त्र धुले हुए भेट करने चाहिए.

क्या नहीं करे (What not to do)  

  1. भेट की जा रही किसी भी सामग्री(Charity Articles) को दीवार से नीचे नहीं रखे बल्कि वहा पर उपलब्ध खूंटी पर ही लटकाए.
  2. जो भी सामग्री भेट(Charity Articles) की लिए रखी जाती है, वो काम में आने वाली उपयोगी वस्तु ही होनी चाहिए. घर का कचरा-स्क्रैप (अनुपयोगी सामग्री) को दीवार पर नहीं लटकाए.
  3. खाने की कोई वस्तु वहा ‘दान की दीवार’ (Charity Wall)पर भेंट नहीं करे.
  4. दीवार व स्थान के आस-पास(Charity Wall Area) गन्दगी नहीं फेलने दे.
  5. ट्राफिक व्यवस्था में व्यवधान पैदा करने वाली ऐसी दीवारों का ‘दान की दीवार’ (Charity Wall)के लिए उपयोग नहीं करे.
  6. स्क्रैप के व्यवसाय में काम में आनी वाली वस्तुओ को ‘दान की दीवार’ (Charity Wall)पर भेट नहीं करे.

शुभारम्भ के मोके पर रोटरी जोन के पदाधिकारी रोटरियन नरपत मेहता, प्रोजेक्ट इंचार्ज रोटरियन गणेश राम सुथार, रोटरियन भंवरलाल मालवीय, अशोक कोठारी व हेमराज खत्री तथा  पूर्व विधायक गुलाबसिंह राजपुरोहित भी उपस्थित रहे.

rotary-charity-wall-2

Related Post

नोटबंदी के समय सहकारी बैंक व क्रेडिट कॉपरेटिव सोसाइटीज की मिली भगती से केसे नोट बदले गए ?

नोटबंदी के समय सहकारी बैंक व क्रेडिट कॉपरेटिव सोसाइटीज की मिली भगती ...

नोटबंदी के समय सहकारी बैंक व क्रेडिट कॉपरेटिव सोसाइटीज की मिली भगती से केसे नोट बदले गए ?  नोट बंदी के समय, हम सभी ...

Add a Comment

Leave a Reply

SiteLock